सच्ची कहानी भगवान शिव ने भक्त को दीये दर्शन, shiv Shankar

By | July 8, 2020
सच्ची कहानी भगवान शिव ने भक्त को दीये दर्शन, shiv Shankar

shiv Shankar दोस्तों एक बार शिव भगत अपने गाँव से श्री केदारनाथ धाम की यात्रा पर निकला पहले यातायात की सुविधाएं तो नहीं थी इसलिए वह पैदल ही निकल पड़ा रास्ते में छुपी मिलता उसी से श्री केदारनाथ का मार्ग पूछ लेता मन में भगवान शिव का ध्यान करता रहता और आगे बढ़ता रहता !

चलती चलती महीनों बीत गए आखिरकार एक दिन वह केदारनाथ धाम पहुंच ही गया श्री केदारनाथ में मंदिर के द्वार 6 महीने खुलते हैं और 6 महीने बंद रहते हैं उस समय पहुंचा जब मंदिर के द्वार बंद हो रहे थे पंडित जी को उसने बताया कि वह बहुत दूर से मैं महीनों की यात्रा

shiv shankar damru wale शिव शंकर

करके आया है पंडित जी से प्रार्थना करके उसने दरवाजे खोलकर प्रभु के दर्शन की इच्छा जताई लेकिन वहां का तो नियम था एक बार बन तू बंद !

नियम तो नियम ही होता है वह बहुत रोया और भगवान शिव को याद करने लगा कि प्रभु बस एक बार दर्शन दे दो वह बहुत रोया बार-बार भगवान शिव को याद करने लगा कि प्रभु बस एक बार दर्शन करा दो उसने पुजारी जी से भी बहुत प्राथना !

की लेकिन किसी ने उसकी नहीं सुनी पंडित जी ने कहा अब यहां 6 महीने बाद ही आना 6 महीने बाद यहां के दरवाजे फिर से खुलेंगे यहां 6 महीने बर्फ और ठंड पड़ती है और सभी लोग यहां से चले जाते हैं सभी लोग वहां से चले गए और वह वहीं !

मजेदार कहानी बीरबल की चतुराई Akbar Birbal Ki Kahani

रह गया रोते रोते रात होने लगी और चारों तरफ अंधेरा हो गया लेकिन उसे विश्वास था कि शिवजी उस पर जरूर कृपा करेंगे भूख और प्यास की लग रही थी उसने किसी के आने की आहट सुनी उसने देखा एक सन्यासी बाबा उसके और आ रहे हैं !

वह सन्यासी बाबा उसके पास आए और उसके पास बैठ गए और पूछा बेटा कहां से आए हो उतनी सारा हाल सुना दिया और बोला मेरा यहां आना व्यर्थ हो गया बाबा जी बाबा जी ने उसे बहुत समझाया और खाना भी दिया और पेट में बहुत देर तक उच्च बाबा से बात करता रहा बाबा जी को उस पर दया आ गई और वह बोले बेटा मुझे लगता है मंदिर कल सुबह जरूर खुलेगा तुम दर्शन जरूर करोगी

shiv shankar amritvani, shiv shankar avatar, shiv shankar abhyankar, shiv shankar art, शिव शंकर आरती

बातों बातों में इस भक्तों को ना जाने कब नींद आ गई सुबह हुई सूर्य के मध्य प्रकाश के साथ भक्ति की आंखें खुली उसने इधर-उधर बाबा को देखा बाबा कहीं नहीं थी इससे पहले कि वह कुछ समझ पाता उसने देखा पंडित जी आ रही है !

अपनी पूरी मंडली के साथ उसने पंडित जी को प्रणाम किया और बोला कल तो आपने कहा था कि मंदिर अब 6 महीने बाद ही खुलेगा और इस बीच में यहां कोई नहीं आएगा लेकिन आप तो सुबह होते ही यहां आ गए !

जी ने उसे गौर से देखा और पहचानने की कोशिश करी और पूछा तो वही हो जो मंदिर का द्वार बंद होने पर आई थी जो मुझे मिले थे 6 महीने होते ही तुम समय पर वापस आ गए व्यक्ति ने आश्चर्य से!

The Best Inspirational story in hindi, stories in Hindi

नहीं मैं कहीं नहीं गया कल ही तो आप मुझ से मिले थे रात को तो मैं यही सो गया मैं कहीं नहीं गया पंडित जी के आश्चर्य का ठिकाना नहीं था उन्होंने कहा लेकिन मैं तो 6 महीने पहले मंदिर बंद करके गया था और आज 6 महीने बाद ही आया हूं !

6 महीनों तक यहां पर जिंदा कैसे रह सकते हो पंडित जी और उनकी सारी मंडली हैरान थी इतनी सर्दी में एक अकेला व्यक्ति कैसे 6 महीने तक जिंदा रह सकता है भक्तों ने उनको सन्यासी बाबा के मिलने और उसके साथ की गई सारी बातें बता दी एक सन्यासी बाबा आए थे जिनकी दाढ़ी और लंबी लंबी चटाई थी और एक हाथ में डमरू था उन्होंने मृत शाला पहना हुआ था पंडित जी और सब लोग कुत्ते चरणों में गिरकर

Best Powerful Motivational, Inspirational Quotes In Hindi

बोली हमने तो जिंदगी लगा दी किंतु प्रभु के दर्शन ना पा सके सच्चे भक्त तो तुम ही हो तुमने तो साक्षात भगवान शिव के दर्शन किए हैं उन्होंने अपनी योग माया से तुम्हारे 6 महीने को एक रात में परिवर्तित कर दिया कालखंड को छोटा कर दिया यह सब तुम्हारे पवित्र मन और तुम्हारी श्रद्धा और विश्वास के कारण ही हुआ है !

हम आपकी भक्ति को प्रणाम करते हैं फिर खुले और उस भक्तों ने केदारनाथ मंदिर में भगवान शिव के दर्शन किए तो दोस्तों कैसी लगी आपको आज की एक कहानी ऐसी और नई कहानियों के लिए हमारे website par bane rahe

0 thoughts on “सच्ची कहानी भगवान शिव ने भक्त को दीये दर्शन, shiv Shankar

  1. Pingback: जादुई पम्प सोन के सिक्के, हिंदी कहानिय Hindi Kahaniyan

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *