जादुई कलश | Jadui Kalash | Magical Pot story Hindi

By | July 26, 2020
जादुई कलश | Jadui Kalash | Magical Pot story Hindi
moral stories in Hindi

जादुई कलश Jadui Kalash Magical Pot story Hindi Story

जादुई कलश रामपुर नाम के गांव में मदन नाम का एक सब्जी वाला अपनी पत्नी रूपा के साथ रहता था अपने घर के पीछे की जमीन पर व सब्जियां उगा था और Magical Pot story Hindi अपने जीवन का गुजारा करता था जमीन बहुत ही पथरीली थी बहुत हलचल आने के बाद ही उस पर थोड़ी बहुत सब्जियां उपज पार्टी एक दिन दोपहर में मदन जमीन पर हर चला रहा था बहुत धूप थी और वह थक भी गया था मदन ऊपर आसमान की तरफ देखकर भगवान से कहता है कि भगवान क्या मैं पूरी जिंदगी इस पथरीली जमीन पर हल चलाता रहूंगा थोड़ी बहुत जो भी सब्जियां होती है उसे मैं तीन टाइम के खाने के पैसे भी नहीं ला पाता आप कुछ तो दया करो मुझ पर कभी उसका हल जमीन के अंदर किसी चीज से टकराता है मदन देखता है तो एक पुराना कलर्स मिलता है वह कहता है कि भगवान !

आपने मेरे मांगने पर दिया भी तो यह पुराना कलर काम करते-करते मदन को बहुत जोर से भूख लगी थी वह पास के आम के पेड़ से आम खाने के लिए तोड़ता है मदन को आम का फल खाने में बहुत मीठा लगता है वह कहता है जो ना मैं थोड़े से आम के फल रूपा के लिए भी इस कलश में ले जाऊं यह कलश किसी काम में तो आएगा जैसे ही मदन ने कलश में 2 आम रखें देखते ही देखते पूरा कल आसाम से भर गया मदन को बहुत आश्चर्य हुआ उसने कहा यह कैसे हुआ कोई जादू है क्या मैंने तो यूं ही नाम रखे थे और अब कल शाम से भर गया वह तुरंत उस तलाश को लेकर अपने घर चला गया मदन ने अपनी पत्नी रूपा से कहा देखो रूपा मैं तुम्हारे लिए क्या लाया हूं रूपा बोलती है आम लेकर आए हो और खाने के लिए घर पर कुछ भी नहीं है फिर थोड़ा सा आटा है मदन कहता है चिंता क्यों करती हो भाग्यवती अब हमारी किस्म !

हिन्दी कहानी, हिन्दी, short story, new stories, Magical Pot story Hindi

बदलने वाली है अब हमें कभी खाने की कोई दिक्कत नहीं होगी रूपा पूछती है ऐसा क्यों आपको कहीं नौकरी मिल गई है मदन कहता है अरे नहीं रूपा एक बहुत ही अनोखी चीज मिली है जादुई चीज रूपा कहती है जादुई चीज कैसी जादुई चीज मुझे भी दिखाओ मदन कहता है तुम वह थोड़ा सा आटा लेकर आओ मैं बताता हूं मदन उस थोड़े से आटे को कलश में डालता है देखते ही देखते पूरा कलश आटे से भर जाता है रूपा यह सब देखकर बहुत खुश होती है और मदन से कहती है अब हमें कभी किसी चीज की दिक्कत नहीं होगी अगर इसमें खाना ज्यादा हो सकता है तो बाकी की चीजें भी ज्यादा हो जाएंगे तभी मदन कहता है रूपा ज्यादा लालच सही नहीं भगवान ने हमें बहुत अच्छा उपहार दिया है हमें जादुई कलश का सिर्फ खाने की जरूरतों को पूरा करने के लिए उपयोग करना चाहिए रूपा कुछ नहीं कहती पर उसे मदन की बात सही नहीं लगती !

jadui kahaniya, fairy tales in hindi, jadui kahani, Magical Pot story Hindi

अगली सुबह रूपा को अपनी दोस्त की शादी में जाना था वह मदन से कहती है पास के गांव में मेरी सहेली पुष्पा की शादी है हमें आज वहां जाना है मदन कहता है अच्छा फिर तो हमें उसके लिए कोई तोहफा भी ले जाना चाहिए मैं बाजार से उसके लिए एक साड़ी ले आता हूं रूपा कहती है ठीक है आप बाजार जाओ मैं तब तक सामान बांध लेती हूं रूपा देखती है उसके पास पहनने के लिए बहुत थोड़े जेवर हैं और एक-दो ही अच्छी साड़ियां हैं वह कहती है शादी में सब नए नए जेवर और कपड़े पहनेंगे तो मैं भी जादुई कलश का उपयोग करके अपने लिए कुछ साड़ियां और जेवर जादू से मंगा लो लालच के कारण रूपा अपनी साड़ी कलश के अंदर डालती है और देखती है जादू से बहुत सी साड़ियां आ गई फिर वह अपने थोड़े से जेवर भी उस जादुई कलश के अंदर डालती है देखते ही देखते पूरा कलर्स सोने के जेवर से भर जाता है रूपा सारे जेवर निकालने लगती !

Magical, Magical Pot, stories in hindi, moral stories

कुछ जेवर निकालने के बाद उसे ऐसा लगता है कि कलश में और भी जेवर हैं वह कलर्स के अंदर झांकी देखने लगती है जैसे ही रूपा कलेक्ट के अंदर जाती है देखते ही देखते जादू की वजह से बहुत सारे रूपा कलर्स के बाहर आ जाती है असली रूपा को कुछ समझ में नहीं आ रहा था क्या हुआ वह बहुत परेशान हो जाती है तभी मदन बाजार से उपहार लेकर घर आता है इतनी सारी रूपा को देख कर समझ जाता है कि लालच की वजह से जरूर उठाने जादुई कलश का गलत उपयोग किया होगा उसे कुछ समझ नहीं आ रहा था कि असली रूपा कौन है मदन पूछता है तुम लोगों में असली रूपा कौन है सभी कहते हैं मैं हूं असली रूपा मैं हूं असली रूपा मैं हूं असली रूपा मैं हूं असली रूपा मैडम समझ जाता है कि यह कोई छोटी मुसीबत नहीं है और सब कुछ ठीक करने के लिए अब बस एक ही उपाय है मदन उस जादुई कलश को जामिन !

जादुई कलश, Jadui Kalash, Magical Pot story, Magical Pot story Hindi

पर पटक कर तोड़ देता है जादुई कलश की टूटी ही उसके जादू का असर खत्म हो जाता है और असली रूपा को छोड़कर सब गायब हो जाती हैं रूपा मदन से कहती है मेरी लालच और नादानी की वजह से आज मुझसे बहुत बड़ी गलती हो गई मुझे माफ कर दीजिए मदन कहता है कोई बात नहीं हमारी जीवन में कुछ ही दिनों का सुख था अब हम वापस से मेहनत करके ही जिंदगी जिएंगे दोस्तों हमें इस कहानी से यह सीख मिलती है कि ज्यादा लालच में किया गया काम का परिणाम बहुत बुरा होता है और मेहनत करके किए गए काम का फल हमेशा ही अच्छा होता है धन्यवाद !

Tags: जादुई कलश, Jadui Kalash, Magical Pot story, Hindi Kahani, Wow Tv Moral Stories, wow tv hindi, Magical, Magical Pot, stories in hindi, moral stories, jadui kahaniya, fairy tales in hindi, jadui kahani, magical story in hindi, magical story, moral story, hindi animated stories, magical door, hindi story, magical stories, magic, kahani, कहानी, stories, story time, short stories, panchatantra, हिन्दी कहानी, हिन्दी, short story, new stories, magical golden pot hindi story

11 thoughts on “जादुई कलश | Jadui Kalash | Magical Pot story Hindi

  1. Pingback: जादुई भूतिया लूडो हिंदी कहानियां Magical Bhutiya Ludo Hindi Stories

  2. Pingback: विशाल सांप बचाव लालची जेसीबी वाला Giant Snake Rescue JCB, हिंदी कहानिय Hindi Kahaniya - stories in hindi for kids

  3. Frank

    I absolutely love your blog.. Great colors & theme. Did you
    build this amazing site yourself? Please reply back as I’m attempting to create my own personal site and
    would like to know where you got this from or just what
    the theme is named. Kudos! I will immediately
    take hold of your rss as I can not find your email subscription hyperlink or newsletter service.
    Do you have any? Kindly permit me know so that I may just subscribe.

    Thanks. Ahaa, its nice conversation about this piece of writing here at this web site, I have read all that, so at this time me also commenting at this place.
    http://vans.com

    Feel free to surf to my blog post: Frank

    Reply
  4. anime Dr.Stone saison 2

    Chrome’s staff manages to succeed in Tsukasa’s base and hide the radio tools near Senku’s “grave” that Taiju and Yuzuriha
    had arrange as a dropoff level.

    Reply
  5. fun88

    Thank you for another informative web site. The place else
    may I am getting that kind of information written in such a perfect manner?
    I’ve a mission that I am just now operating on, and I’ve been at the glance
    out for such info.

    Also visit my web site – fun88

    Reply
  6. love reviews

    Can Audible Work?
    You take a trial of Audible out and get a complimentary audiobook.
    This really is one of the classics or perhaps an Audible originals.

    At the end of your trial, you can purchase a subscription of Audible.

    You want to register to your membership with your Amazon account.

    Each month, you are awarded by Audible with
    one charge. You can use this credit to buy Audible audio books in various categories including technology, fashion, love, social networking,
    ads, etc..
    If you wish to purchase books, then you can purchase Audible credits or pay-per sound publication.
    A member can download two of six Audible Originals. They do not charge any credits.
    These Audible Originals can be kept by you forever.

    You have all Audible audio books on your library even in case you cancel your subscription.
    It’s possible to listen to Audible audio books anyplace using apps on Windows,
    your phone or Mac computer or Alexa device.|
    What is Audible?
    With more than 300,000 titles to its title, Audible is the world’s biggest seller and producer of audiobooks. http://www.samridhisocialhelp.in/misc-2/amazon-presents-free-of-cost-one-month-audible-membership/

    Reply
  7. https://gliza.us/is-audible-actually-worth-it-our-honest-audible-customer-review

    How Can Audible Work?
    To begin with, you take a free trial of Audible and get a free audiobook.

    This could be among perhaps an originals or those classics.

    At the conclusion of the trial, you can purchase a subscription of Audible.
    You will need to sign up for the membership.

    Each month, are awarded by Audible with a
    single credit. It is possible to use this credit to buy Audible audio books
    in various categories such as technology, fashion, romance, social
    media, ads, etc..
    If you want to buy more books, you can buy Audible credits or pay-per audio
    book.
    A member can download just a couple of six Audible Originals
    on the first Friday of every month. They don’t charge any
    credits. These Audible Originals can be kept by you .

    You own Audible books on your library even in case you cancel your subscription.
    You can listen to Audible books anywhere using apps on your mobile, Windows or Mac computer or Alexa device.|

    With more than 300,000 names to its title, Audible is the world’s largest
    vendor and producer of audiobooks. https://gliza.us/is-audible-actually-worth-it-our-honest-audible-customer-review

    Reply
  8. Judi Online Poker88

    Nice weblog right here! Additionally your website quite a bit up
    very fast! What host are you the usage of? Can I get your associate hyperlink for your
    host? I wish my site loaded up as quickly as yours lol

    Reply
  9. hukum judi Online

    Usually I don’t read post on blogs, however I wish to say that this write-up very
    pressured me to try and do so! Your writing taste has been surprised me.

    Thanks, quite great article.

    Reply
  10. Daftar Judi Online

    Today, I went to the beach front with my kids. I found a sea shell and gave it to my
    4 year old daughter and said “You can hear the ocean if you put this to your ear.” She placed the shell to her ear and
    screamed. There was a hermit crab inside and it pinched her ear.
    She never wants to go back! LoL I know this is completely
    off topic but I had to tell someone!

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *