घर का लॉकडाउन Home Lockdown – Hindi Kahnaiya

By | July 24, 2020
79 / 100
घर का लॉकडाउन Home Lockdown - Hindi Kahnaiya

घर का लॉकडाउन Home Lockdown – Hindi Kahnaiya

होम लॉकडाउन संगरेड्डी इलाके में वीरेंद्र बाबू नाम का आदमी घर में बैठकर टीवी देख रहा था इतने में उसकी पत्नी वहां आती है Hindi Kahnaiya और उससे कहती है सुनिए क्या आपको यह बात पता है बिना तुम्हारे कहे मुझे कैसे पता होगा वही तो मैं आपसे कहने आई हूं कल न्यूज़ में देखा था !

उसमें एक औरत ने खेल की प्रतियोगिता रखी जिसकी वजह से जिस किसी ने भी यह खेल देखा उन सबको वह नया भारत लग गया जो भी हो इतने सारे लोगों को उसने वायरस लगवा दिया और तुम औरते नामुमकिन को मुमकिन कर सकती हो तुम्हारे मुकाबले कोई आ ही नहीं सकता मेरा ही दिमाग खराब था !

जो सुबह-सुबह मैं आपके मुंह लगी पता नहीं यह वायरस कब जाएगा घर में बैठ बैठ कर आप अपना पेट बड़ा कर रहे हो अगर तुम बाहर गए तो लोग यही पूछेंगे कि नई नई शादी हुई है क्या तुम्हारी पत्नी को आना था पेट तो तुम्हें क्यों आ गया !

hindi kahaniyan video, hindi kahaniya for kids, hindi kahaniyan fairy tales, Hindi Kahnaiya

अगर एक और महीना ऐसे ही बैठ कर खाते रहे तो 3 महीने का पेट जाकर 9 महीने का पेट लगेगा पहले अपना पेट कम करने का तरीका सोचो यह कहकर पत्नी वहां से चली जाती है तुम्हारी इतनी हिम्मत इतनी बड़ी बात कह दी तुमने आज से देखो मैं एक्सरसाइज करूंगा योग करूंगा एकदम सलमान खान की बॉडी बना लूंगा हां यह कहकर वह जाकर सो जाता है !

अभी तो कह रहे थे एक्सरसाइज करूंगा करूंगा हीरो बनूंगा यह क्या तभी जाकर सो गए अरे पहले उठिए बाहर जाकर कुछ खाने के लिए नहीं आई है कम से कम इस तरह से आपकी वॉकिंग हो जाएगी वह बहुत आलसी होकर पलंग पर से उठता है और मन में सोचता है घर में बीवी की चढ़ा चढ़ा सुनने से अच्छा है थोड़ा बाहर घूम के आ जाऊं यह सोचकर वह घर से निकलता है कि रास्ते में उसे !

अर्जुन दिखाई देता है उसे देख वीरेंद्र बाबू अर्जुन से कहता है अरे अर्जुन कैसे हो मैंने सुना है कि तुम्हारी शादी हो गई है अरे तुमने तो मुझे बुलाया ही नहीं अरे मेरी शादी तो लोग डाउन में जैसे तैसे मंदिर में हुई है मेरी शादी मेरे पिताजी ने एक लेडी कंडक्टर से करा दी अगर मैं मेरी पत्नी से दूर खड़ा रहता हूं ना तो कहती है !

hindi kahaniya akbar birbal ki, hindi kahaniya bedtime moral stories, hindi kahaniya comedy, Hindi Kahnaiya

अंदर आओ बंदरा मैं सोचता हूं कि मुझे बुला रही है और अगर मैं उसके पास जाता हूं तो कहती है दूर सर को दूर सर को बहुत बड़ी मुसीबत हो गई है भाई अर्जुन की बातें सुनकर वीरेंद्र हंसने लगता है हां हां तुम्हें तो हंसी आएगी ठीक है मैं चलता हूं घरवाले मेरा इंतजार कर रहे होंगे इंतजार कर रहे होंगे क्या तुम जानवर पा रहे हो क्या अरे बात नहीं है कपड़े बर्तन सब मेरा इंतजार

कर रहे हैं जाकर मुझे ही तो उन्हें साफ करना है लॉक डाउन है ना तो सारी मुसीबत मुझ पर ही है अर्जुन वहां से चला जाता है बाद में वीरेंद्र बाबू फल खरीद कर घर जाते हुए मन ही मन में सोचता है लॉक डाउन के वजह से कितनी मुसीबत आ गई है इन औरतों को तो एक बहाना मिल गया है !

मर्दों से घर का सारा काम करवाने का कहीं मेरी बीवी भी मुझसे बर्तन और कपड़े तो साफ नहीं करवाएगी यह सोचते हुए वह घर जाता है अगले दिन पत्नी इज्जत से आकर कपड़े भी दो दीजिए कपड़े धोने हैं कपड़े धोते वक्त साड़ी फट जाती है उसे देख कर उसकी पत्नी आपको एक काम भी ढंग से नहीं आता मेरी इतनी कीमती साड़ी आपने फाड़ दी अब देखिए मैं आपका क्या करती हूं

hindi kahaniya for class 5, hindi kahaniya for class 2, hindi kahaniya fairy tales, Hindi Kahnaiya

कहकर वीरेंद्र बाबू को पीटने लगती है उसकी पत्नी उसकी एक भी नहीं सुनती और उसको पीटी रहती है अरे मुझे छोड़ दो यह कहकर वीरेंद्र बाबू चिल्लाते हुए एकदम से नींद से जाता है कि जो यह सब सच लग रहा था क्या हुआ कोई सपना देखा क्या मैंने तुम्हें सपने में पीटने यह कहकर जोर जोर से हंसने लगी अरे बस बस बहुत हुआ जाओ जाकर कॉफी लेकर आओ कॉफी लाने जाती है तब वीरेंद्र बाबू अपने मन में सोचता है

जो भी होता है अच्छे के लिए होता है मैं आज से ही काम करता हूं मैं लैपटॉप लेकर काम करने का नाटक करता हूं जिससे मेरी बीवी को यह लगे कि मैं काम कर रहा हूं और वह मेरे आसपास भी नहीं आएगी यह सोचकर वह काम हो या ना हो लैपटॉप को सामने रखकर बिजी होने का नाटक करता है !

अगर यह बात उसकी पत्नी को पता चल गई तो बेचारे की हालत को सोच कर भी हंसी आ रही है ना आपको हमारी यह कहानी कैसी लगी हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं और यदि आप ऐसे ही और भी कहानियां सुनना चाहते हैं तो हमारे वेबसाइट पर बना रहे !

Read More stories

17 thoughts on “घर का लॉकडाउन Home Lockdown – Hindi Kahnaiya

  1. Pingback: Magical Lion Door जादुई शेर दरवाज़ा कहानियां Hindi Kahaniya

  2. Pingback: Naag Panchami Ki Kahani, नाग पंचमी की कहानी, Naag Panchami

  3. idnpoker indonesia

    Thank you for the good writeup. It in fact was a amusement account it.
    Look advanced to more added agreeable from you!
    However, how can we communicate?

    Reply
  4. bokep gratis

    Hmm is anyone else experiencing problems with the
    images on this blog loading? I’m trying to determine if its a problem on my end or if it’s the blog.
    Any feedback would be greatly appreciated.

    Reply
  5. Lila

    Having read this I thought it was very enlightening. I appreciate you spending some time and effort
    to put this short article together. I once again find myself
    spending a significant amount of time both reading and leaving comments.
    But so what, it was still worth it!

    Reply
  6. Connor

    After exploring a handful of the articles on your website,
    I honestly like your way of writing a blog. I bookmarked
    it to my bookmark webpage list and will be checking back soon.
    Take a look at my website too and tell me how
    you feel.

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *