जादुई भैंस #2 Hindi Kahaniya Story Comedy

(Hindi Kahaniya Story Comedy ) मैजिकल भेष एक गांव में नकुल नाम का एक व्यक्ति रहता था उसका एक चाचा था ब्लू नाथ दोनों अलग-अलग रूप डालकर चोरी करते रहते थे

एक दिन भेरू नाथ बाबा का भेष बदलकर जगदीश चंद नाम के एक जमींदार के घर गया उसके साथ हीएक भैंस भी थी जगजीत ने बाबा को प्रणाम किया और यह क्या स्वामी न्यू सूचना दिए बगैर ही आप हमारे घर पधारे मेरे आने का एक कारण है

जादुई भैंस खिलौना Magical Buffalo, moral story in hindi
images credit: Maja TV Hindi stories

बेटा मैं अपने दिव्य दृष्टि से यह लोगों की समस्या जान लेता हूं मैं जान गया हूं कि आपके घर में कई समस्याएं हैं क्या यह सच है जी हां स्वामी जी आजकल मेरी सेहत ठीक नहीं रहती मेरा बेटा पागल हो गया है मेरी बेटी ने अपने पति को छोड़ दिया है|

इसीलिए मैं तुम्हारे लिए एक जादुई भैंस लाया हूं यदि तुमने इसे रात को अपने घर में रखा तो तुम्हारी सारी समस्याएं दूर हो जाएंगी मैं धन्य हो गया स्वामी जी आपका यह एहसान मैं जिंदगी भर|

Hindi Kahaniya Story Comedy, moral story in hindi for education मोरल स्टोरी इन हिंदी

नहीं भूलूंगा अच्छा बेटा मैं चलता हूं कल सवेरे लौटूंगा कर चला गया जगदीश ने उस भैंस को प्रणाम करके यहां आओ माता उस भैंस के अंदर बैठा नकुल गियर को बदलकर आगे पीछे करने लगा वह खिलौने वाला भैंस आगे बढ़ा वह यू जाकर एक जगह रुकी जगदीश और उसकी पत्नी ने उस भैंस की पूजा की बेटा जल्दी मैं तुम्हारी भक्ति से प्रसन्न हूं|

जगदीश और उसकी पत्नी हैरान हो कर देख रहे थे यह क्या माते आप तो हमारा नाम भी जानते हैं मैं सब कुछ जानती हूं बेटा हाथ बढ़ाओ कहकर जगदीश ने दोनों हाथ बढ़ाएं नकुल ने अंदर से कुछ फूल फेंके वह भैंस के मुंह से निकलकर जगदीश के हाथों में गिरा बेटा तुम्हारे घर के सारे गाने और रुपयों को एक थाली में बांधकर एक जगह रखकर इन फूलों को उसके ऊपर डाल कर पूर्व की दिशा में प्रणाम करके जाओ ऐसे करोगे तो परसों सवेरे तक|

जादुई भैंस खिलौना Magical Buffalo, moral story in hindi
images credit: Maja TV Hindi stories

और दैनिक दुखने हो जाएंगे यह मेरी तरफ से तुम्हारे लिए स्पेशल बोनस है अरे वाह क्या किस्मत है उसकी पत्नी अंग्रेजी बोलती है यह जादुई भैंस है ना सब भाषाएं जानती होगी इतने में जादुई भैंस के बारे में जानकर अड़ोस पड़ोस के लोग भी फल लेकर आए एक औरत ने उसके मुंह में एक सेव रखा नकुल उसे लेकर रेप तो हमें अच्छे लगते ही नहीं आई आर यू सोच कर उसे पीछे फेंक दिया वह पीछे से बाहर निकला यह देखकर बहुत अरे वाह प्रताप मिल गया आम के लिए अनार उसके मुंह में डालने लगे उन्हें पीछे रखने लगा पीछे से लेकर प्रणाम करके प्रसाद के रूप में स्वीकार कर लिया थोड़ी देर बाद नकुल तंग आ गया प्यारे भक्तों में फलों के साथ-साथ पिज्जा और बर्गर भी स्वीकार करती हूं|

moral story in hindi for kids| moral story in hindi panchtantra

पिज्जा लेकर उसके मुंह में रखा और सोच कर उसे खाने लगा वह पिज्जा चलाने वाला भक्त पीछे इंतजार करने लगा यह क्या अरे फल तो बाहर आ गए पर पिज्जा बाहर नहीं आया उसने झुककर पीछे अंदर देखने लगा नकुल ने एक गैर दबाया उस भैंस ने उसे दौलत थी मारा वह दूर जा गिरा बाद में जगदीश ने आकर माते थोड़ा दूध दोगे खीर बनाकर प्रसाद बांट दूंगा ठीक है बेटा मेरे तन के पास बर्तन रखो जगदीश ने झुककर बर्तन रखा तो नकुल ने अंदर से एक दूध का पैकेट डाला वह आकर जगदीश के हाथ में गिरा उसे देखकर जगदीश चौक गया इतने में अंधेरा हो गया नकुल उस भैंस से बाहर निकला अब आराम है सवेरे से गर्मी में मर रहा था नकुल चुपके से उस घर में घुसा वहां सब सो रहे थे नकुल उस कमरे में गया जहां गहने और

पर रखे थे उन सब का एक गठरी बांध है उसे लेकर वह बाहर आए फिर उन सब के साथ भैंस के अंदर जाकर सो गया अगले दिन सवेरा हुआ जगदीश उस भैंस के पास आकर माते क्या मेरी समस्याएं दूर हो जाएंगी भी उसकी पत्नी अंदर से आकर रुके गायब हो गए क्या कह रही हो तुम वह कमरा खोला ही क्यों नकुल डर गया तभी पुलिस में आए तो रात को आपके घर पर चौराहे पर सारे गहने और पैसे बाहर क्यों रखा आप लोगों ने इस जादुई भैंस ने हमसे कहा था बाहर रखने के लिए सर क्या जादू है इसने कहा कह कर उसको जांचने लगा

जादुई भैंस खिलौना Magical Buffalo, moral story in hindi
images credit: Maja TV Hindi stories

इतने में भैरू नाथ का फोन आया भैंस के अंदर फोन की घंटी बजने लगी नकुल परेशान होकर फोन को ढूंढने लगा यह क्या भैंस के अंदर से फोन बज रहा है यह जादू की भैंस सेल फोन भी रखती है क्या वहां से बस तलाशी लो कौन से मिलने उसके पेट पर मार कर देखा सर टीम की आवाज आ रही है सर से खोलो कौन से बस ने खोला अंदर नकुल था सब चौक गए इतने में भैरू नाथ ने आकर क्यों बैठे मेरी जादुई भैंस नहीं अच्छे वरदान दिए हां बच्चों दिया अब मैं इसे और तुम्हें दोनों को बढ़िया वरदान देता हूं कहकर उन दोनों को पकड़कर हर्ष किया |

वोटर बोतल #2 moral stories for kids

वोटर बोतल बुक शमशाबाद गांव में एक साइंटिस्ट रहता था उसका नाम था डॉक्टर मुखर्जी बोल ज्यादातर वक्त अपने प्रयोगशाला में ही दिखाता था वह विभिन्न किस्म के एक्सीडेंट करता रहे

तथा उसे कई नाम और पुरस्कार भी मिले वह जुबान का कड़वा था वह हमेशा सामने वाले की निंदा करता रहता था और उसका अपमान करता रहता था एक बार वह कोई एक्सपेरिमेंट कर रहा था कि पत्नी उसके लिए चाय लेकर आई उसने उसे पीकर उसके मुंह पर ही दे मारा और यह चाय ठंडी है|

तुम जानते हो ना कि मैं ठंडी चाय नहीं पीता हूं वैसे भी पति के सेवा करने के अलावा तुम्हारा और क्या काम है मैं इतनी मेहनत करके पैसे कमा रहा हूं और तुम यूं ही खा पीकर यहां पड़ी रहती हो जो यहां से कहा उसने चढ़कर वह बेचारी रोती हुई वहां से चली गई जब भी मुखर्जी को काम से ऊब जाता था तो बाहर निकलकर शेयर करता रहता था एक बार नदी के पास जाकर सिद्धू नाम के एक वो वाले से अरे आजकल सेट करने में भी मजा नहीं आ रहा है जरा तुम्हारे 9 मई मूवी एक चक्कर लगाते हैं चलो क्या लोगे क्या सर आप भी आप से पैसे कैसे ले सकता हूं सर आप एक |

महान साइंटिस्ट है पैसों की जरूरत नहीं है सर आइए चलते हैं यह नाटक छोड़ो मुझे तुम्हारी यह विनम्रता और मेहरबानी की जरूरत नहीं है ₹1000 देता हूं यू एक चक्कर मार कर आते हैं चलो इस तरह दोनों बोट में बैठकर जा रहे थे सिद्धू चप्पू चला रहा था और मुखर्जी इधर-उधर देखने लगा तुम इतने सालों से नाव चला रहे हो ना क्या तुम जानते हो कि नाव पानी में तैरता कैसे है यार इतना तो जानता ही हूं यह लकड़ी की बनी है ना इसीलिए तैरती है और लौटा और घड़ा भी तो पानी में तैरते हैं ना वह तो लकड़ी की बनी हुई नहीं है सिद्धू को समझ में नहीं आया कि वह क्या जवाब दें अरे पगले इसीलिए कहते हैं कि पढ़ना चाहिए एक ज्ञान बढ़ता है वह नहीं है इसीलिए तुम अज्ञानी हो मैं बताता हूं कि वह क्यों तैरती है अंग्रेजी नहीं जानते

moral story in hindi animals | moral story in hindi audio | moral story in hindi and short

या तो किसी भी वस्तु को पानी में रखो तो दो शक्तियां काम करें एक ग्रेविटेशनल फोर्स यानी कि गुरुत्वाकर्षण शक्ति और दूसरा है वो nc42 समझे कि नहीं समझे ध्यान से सुनो यानी नाव को पानी में रखते ही यदि उसका भात उसके द्वारा विस्थापित पानी के बाहर से कम हुआ तो तेरे का अगर ज्यादा हुआ तो नाव डूब जाएगा इसीलिए पत्थर पानी में डूब जाता है यह शक्ल क्यों ऐसे बना रखी है

तुमने समझे कि नहीं समझ गया सर आपको दुनिया की बहुत सारे विषयों की जानकारी है पर क्या आपको एक बहुत जरूरी चीज की जानकारी है या नहीं क्या है इतनी जरूरी विषय सर यदि पानी में डूब जाए तो तैरना वह तो आपने सीखा है कि नहीं सीखा है नहीं यार मुझे तैरना नहीं आता पर क्यों पूछ रहे हो वह देखिए सर दूर तूफान आने वाला है नाक के उलट ने की संभावना है

सके कहे अनुसार ही एकदम तेज हवा तूफान और आंधी से नाव उलट गया सिद्धू मुखर्जी को लेकर एक टापू की ओर बढ़ता हुआ चला गया बाप रे मरते मरते बचा थैंक्स भाई सिद्धू तुमने मुझे बचा लिया वैसे हम इस टापू से कैसे निकलेंगे सर आप इतने बड़े साइंटिस्ट से कुछ ना कुछ तो कीजिए अरे ऐसे ना कहो मेरे भाई मैंने विज्ञान सीखने के चक्कर में मनुष्य के लिए आवश्यक सामान्य ज्ञान नहीं सीख पाया तुम्हें कुछ ना कुछ सोचो भाई सिद्धू ने इधर-उधर देखा तो वहां पर पानी के बहुत सारे बहकर आए हुए बोतल पड़े दिखाई दिए उन्हें देखकर सिद्धू को एक तरकीब सूझी उसने तुरंत बोतलों को जमा किया मुखर्जी उतावला हो कर देखने लगा कि वह कर क्या रहा है इस तरह सिद्धू नहीं

moral story in hindi class 8 | moral story in hindi class 2 | moral story in hindi class 4 | moral story in hindi class 1 | moral story in hindi class 3 |

बोतलों से 19 तैयार किया दोनों उस बोट में वापस लौट रहे थे शर्ट लगता है आपका वह ग्रेविटी फोर्स और बॉय सी फॉर सही काम कर रहे हैं बहुत अच्छी तरह तैयार रहा है अरे आखिर तुम्हारी बुद्धिमानी का माई मेरे प्रयोग नहीं तुमने मेरी आंखें खोल दी बहुत शुक्रिया अब से मैं किसी का भी अपमान नहीं करूंगा प्रॉमिस सबसे मुखर्जी अपनी पत्नी समेत हर एक से इज्जत से बात करके उनका सम्मान करके बर्ताव करने लगा

No Responses

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: