एक चोर और गाय की कहानी पाप-पुण्य, Hindi Moral Story

By | July 9, 2020
एक चोर और गाय की कहानी पाप-पुण्य, Hindi Moral Story

Hindi Moral Story दोस्तों एक बार की बात है भवानी ने नारद जी से कहा कि आप तो हमेशा भ्रमण करते रहते हैं इसलिए आप कोई ऐसी घटना बताइए !

जिससे आप हैरान हो गई हूं moral stories in Hindi नारद जी ने कहा प्रभु जंगल से ही आ रहा हूं वहां एक गाय दलदल में फंसी हुई थी उसे बचाने वाला कोई नहीं था तभी वहां से एक चोर गाय को फंसा हुआ देखकर भी वह !

नहीं रुका उल्टे उस पर पैर रखकर दलदल लांग कर निकल गया आगे जाकर उसे चोर को एक सोने से भरी थैली मिल गई थोड़ी देर बाद वहां से वृद्धा साधु भी गुजरा उसने !

hindi moral story for class 6 हिंदी मोरल स्टोरी

गाय को बचाने की पूरी कोशिश करी पूरे शरीर का ज़ोर लगाने के बाद हुस साधु ने उस गाय को बचा लिया लेकिन मैंने देखा कि गाय को दलदल से निकालने के बाद वह साधु आगे जाकर के एक गड्ढे में गिर गया और उसे चोट लग गई भगवान आप ही बताइए यह कौन सा न्याय हैं !

भगवान मुस्कुराए नारद जो हुआ वह सही हुआ जो चोर गाय पर पैर रखकर भागा था उसकी किस्मत में तू उस दिन खजाना लिखा था लेकिन उसके इस पाप के कारण उसे केवल कुछ बुरे ही मिली !

वहीं हुस साधु को गड्ढे में इसलिए करना पड़ा क्योंकि उसके भाग्य में उस दिन मृत्यु लिखी थी लेकिन काय को बचाने के कारण उसके पुणे बढ़ गए और उसकी मृत्यु एक छोटी सी चोट में !

hindi moral story best, hindi moral story bhutiya kahani

बदल गई इंसान के कर्म ही उसका भाग्य तय करते हैं भगवान की यह बात सुनकर नारदजी संतुष्ट हो गए इसलिए हमें अपने जीवन में हमेशा अच्छे कर्म करते रहने चाहिए !

कैसी लगी आप सभी को आज की एक कहानी ऐसी और नई कहानियों के लिए हमारे वेबसाइटों thatmystory-book.com को सब्सक्राइब करें

सच्ची कहानी भगवान शिव ने भक्त को दीये दर्शन, shiv Shankar
मजेदार कहानी बीरबल की चतुराई Akbar Birbal Ki Kahani
The Best Inspirational story in hindi, stories in Hindi

0 thoughts on “एक चोर और गाय की कहानी पाप-पुण्य, Hindi Moral Story

  1. Pingback: जादुई पम्प सोन के सिक्के, हिंदी कहानिय Hindi Kahaniyan

  2. Pingback: जादुई चक्की Moral Stories-Panchtantra Storys

  3. Pingback: कौवा और चिड़िया Kauwa Aur Chidiya | Hindi Kahaniya For Kids | Hindi Stories For Kids - stories in hindi for kids

  4. Pingback: Kahani बहू हुई गंजी - Story in Hindi, moral Story Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *