Kahani चुड़ैल का घर Stories For kids Hindi Fairytales

By | August 3, 2020
Kahani चुड़ैल का घर Stories For kids Hindi Fairytales

चुड़ैल का घर हिंदी कहान Stories For kids Hindi Fairy tales

बहुत समय पहले कृष्णा नाम का एक चूड़ियां बेचने वाला गांव में रहता था Stories For kids Hindi Fairy tales उसका कार्तिक नाम का एक बच्चा था 1 दिन चूड़ियां बेचते हुए कृष्णा ने एक बरगद के पेड़ के नीचे दोपहर का भोजन किया और फिर बचा हुआ खाना वहीं छोड़कर चला गया !

उस पेड़ पर रहने वाली एक चुड़ैल ने वह खाना खाया और उसे वह खाना बहुत जायकेदार लगा इससे एक आम इंसान के रूप में उसे ऐसा लजीज खाना रोज खाने को मिलेगा वह चुड़ैल एक औरत में बदल गई और कृष्णा से जाकर कहा कि उसका पति उसे अकेला छोड़ कर कहीं चला गया है !

यह सुनकर कृष्णा बोला कि वह उसे उसके घर में काम करने के लिए रख सकता है इससे वह अपने परिवार का पेट भर लेगी कृष्णा ने उसका नाम अपनी पत्नी को दया बताया दियो मां कृष्णा की पत्नी की घर के कामों में मदद करने लगी साथ ही वह उसके पुत्र कार्तिकेय साथी खेलती इस मदद से कृष्णा और उसकी पत्नी को आराम मिला !

एक दिन दायमा की कुछ हरकतें देखकर कृष्णा की पत्नी को उस पर शक हुआ दायमा की हरकतें असामान्य होने की कारण गांव वालों ने कृष्णा को चेतावनी दे दी उन्होंने कहा इस गांव को छोड़कर चले जाओ एक दिन कार्तिक ने दायमा मां को चूहा पकड़ने के लिए कहा गया मां बोली तुमको लगता है मैं नहीं कर सकती और चूहे जितनी छोटे आकार की हो गई और बिल में घुस गई कृष्णा ने उस बिल को मिट्टी से बंद कर दिया !

fairy tales in hindi story new 2019, all new fairy tales stories in hindi, Stories For kids Hindi Fairy tales

अब आगे की कहानी चुड़ैल का घर भाग 2 दायमा को बिल में बंद करने के बाद प्रश्न और उसका परिवार उसके बारे में सोच कर बहुत दुखी थे उन्हें दयामा से किसी भी बात का डर नहीं था बस गांव वालों के कहने पर उन्हें ऐसा करना पड़ा था कुछ दिनों बाद सब अपने-अपने काम में व्यस्त हो गए और दायमा को भूल गए लेकिन कृष्णा का पुत्र कार्तिक जो एक छोटा सा बच्चा था !

दयामा को नहीं भुला पाया था दायमा और कार्तिक अच्छे दोस्त बन गए थे दायमा से में जो माँगता वह मुझे लगा कर देती उसके बाद चेक कार्तिक मौके की तलाश में रहने लगा एक दिन कार्तिक का पिता चूड़ियां बेचने बाजार गया हुआ था और मां घर के काम कार रही थी !

कार्तिक ने मौका देखकर उस बिल की मिट्टी को खोजना शुरू कर दिया उसने बिल्कुल दिया और दायमा अम्मा को आवाज भी तुरंत दायमा बाहर निकल आए और खुशी में कार्तिक को गले से लगा लिया कार्तिक भी बहुत खुश हुआ लेकिन दायमा अम्मा ने कार्तिक से पूछा मैं तुम जो खाने को देते थे !

खाती थी और घर के काम कर देती थी तुमने मुझे दिल में क्यों बंद करा दायमा सारे गांव वालों ने मेरे पिता को चेतावनी दी थी कि अगर उन्होंने तुमको नहीं दूर किया तो उन्हें गांव छोड़ना होगा मेरे पिता ने मजबूरी में तुम्हे बिल में बंद किया था तुम किसी के सामने मत आना !

new fairy tales in hindi to read, fairy tales cartoon in hindi, Stories For kids Hindi Fairy tales

बगीचे में रहो जब मैं बुलाऊं तो आ जाना मैं जैसा कहूंगा तुम्हें करना होगा ठीक है इस बात से दायमा बहुत खुश हुई उस दिन से कार्तिक अपनी मां से तरह-तरह की मिठाइयां पकवान बनाने के लिए कहने लगा जब उसकी मां किसी काम से बाहर जाती झट से दयामा को बुलाता और खाने का पेट भर खा लेने के बाद दयामा कार्तिक के साथ खेलती उनका इस तरह अच्छा समय गुजर रहा था !

1 दिन गांव के नदी में तुफान आया एक बांस में दरार आ गई और पूरे गांव के बांध में डूब जाने की आशंका हुई सारे गांव वाले एक जगह इकट्ठा होकर इस मुसीबत से बाहर निकलने का हल सोचने लगे तब कृष्णा के बेटे कार्तिक ने उन गांव वालों से कहा आपने हमें दयामा मां को पास रखने की वजह से गांव छोड़कर जाने की धमकी दी थी !

इसीलिए हमने दयामा अम्मा को एक बिल में हमेशा के लिए बंद कर दिया अगर दयामा अम्मा हम सबको इस मुसीबत से बचा लेती एक छोटे से बच्चे के मुंह से यह बात सुनकर सारे गांव वालों को अपनी गलती का एहसास हुआ गांव लोगों कहने लगे दयामा अम्मा !

होती तो सबका भला होता आप लॉग बांध बनिए राखे दयामा अम्मा अभी बुला लेता हूं कार्तिक में दयामा अम्मा को आवाज भी दायमा तुरंत वहां आ गई दयामा को देखकर सबको हैरानी हुई और प्रसन्नता भी दयामा अम्मा जाओ और जाकर बांध से आई दरारों को भर दो इस गांव को बचा लो तुरंत दायमा ने दरारों को भर दिया और इस तरह गांव और गांव वालों को डूबने से बचा लिया इसके बाद दयामा अम्मा सबके प्रिय बन गई गांव !

आगे बढ़ बढ़ कर दयामा मां को अपने घर दावत पर बुलाने लगे अब उन्हें दयामा से डर नहीं लगता था दयामा ने सबकी मदद करके उनका भरोसा जीत लिया था !

Tags: fairy tales in hindi story new 2019, all new fairy tales stories in hindi, new fairy tales in hindi to read, fairy tales cartoon in hindi, stories for kids in hindi, princess story in hindi, fairy tales in hindi story new 2020, fairy tales for kids in hindi, kids in hindi, short stories for kids in hindi, moral stories for kids in hindi, story for kids in hindi pdf, new moral stories in hindi, moral stories for children’s in hindi, top 10 moral stories in hindi, hindi short stories for class 1, cow story in hindi, short moral stories in hindi for class 1, moral stories for childrens in hindi pdf, hindi moral stories with pictures pdf, top 10 moral stories in hindi, new moral stories in hindi 2018, moral stories in hindi for class 8, moral stories in hindi for class 7

0 thoughts on “Kahani चुड़ैल का घर Stories For kids Hindi Fairytales

  1. Pingback: रक्षा बंधन की कहानी Raksha Bandhan ki Kahani, Rakhi - stories in hindi for kids

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *